सोलन मुख्यालय सहित प्रदेश भर में बन्द रहा कामकाज

अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे कर्मचारी वेतन वृद्धि के साथ साथ सरकार से सर्वशिक्षा अभियान समिति की तर्ज पर नीति बनाने की कर रहे हैं मांग

समाचार दृष्टि ब्यूरो/सोलन

आश्वासनों से आहत हिमाचल प्राकृतिक संसाधन एवं प्रबंधन समिति (IDP) कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है। जिस कारण आज सोलन मुख्यालय सहित प्रदेश भर में कामकाज बन्द रहा।

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत बुधवार को सभी कर्मचारी सोलन मुख्यालय पर जमा हुए और अपनी मांगों के समर्थन में रोषप्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने प्रदेश में हड़ताल की ओर अपनी जगह जगह रोष प्रदर्शन किया।

तीन दशक पूर्व कंडी परियोजना से अपने कैरियर की शुरुआत करने वाले प्रदेश के दर्जनों कर्मचारियों को नहीं मालूम था कि उनके भविष्य से इस कदर खिलवाड़ किया जाएगा। प्रोजेक्ट में अपनी जिंदगी खपा चुके यह कर्मचारी एक एक कर दिहाड़ीदार के तौर पर ही रिटायर हो रहे हैं।

बढ़ती मंहगाई के इस दौर में वे आज भी मामूली वेतन से अपने परिवार को चलाने के लिए मजबूर हैं। सरकारी उदासीनता का आलम यह है कि अब तक किसी भी सरकार ने इनके भविष्य की चिन्ता नहीं कि ओर अब इन्हें सड़कों पर उतरने के लिए विवश होना पड़ रहा है।

इनका कहना है कि दैनिक भोगी व कॉन्ट्रैक्ट पर रिटायर हो रहे कर्मचारियों को 20 से 30 वर्षों की सेवा के बाद भीन्याय नहीं मिल रहा है। कंडी व मिड हिमालय प्रोजेक्ट में जीवन खपाने वाले दर्जनों कर्मचारियों का भविष्य अंधकारमय हो चुका है।

उधर, यही हाल अनुबंध कर्मचारियों का है। दो दशकों से सेवाएं दे रहे ये कर्मचारी न तो नियमित हो पाए हैं न ही इन्हें वेतन वृद्धि का लाभ दिया जा रहा है। हैरानी का विषय यह है कि हर मंच पर अपनी मांगों को उठाने के बावजूद इन्हें केवल आश्वासन ही मिलते रहे।

https://samachardrishti.com/wp-content/uploads/2022/04/Azadi-ka-Amrit-Mahotsav_Strip_300dpi-scaled.jpg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here