सुरेश कश्यप ने बतौर मुख्यातिथि की शिरकत, रीना कश्यप व बलदेव भंडारी भी रहे उपस्थित

समाचार दृष्टि ब्यूरो/सराहां

जिला सिरमौर के प्रसिद्ध राज्य स्तरीय श्रीवामन द्वादशी मेला सराहां की आखिरी सांस्कृतिक संध्या लोक गायक कुलदीप शर्मा के नाम रही। कुलदीप शर्मा ने अपनी प्रस्तुति से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। कुलदीप शर्मा ने दरोगा जी इन्हें छूरूयो ने समझाई लो रस्ते चलते सिटी मार दे, शाबाश शाबाश रे, हमारी प्यारी है, वो साईं बा री बीबीए, रंग डालना चुना हो, रंग रूप तेरा बड़ा प्यारा, ओ शिल्पा शिमले वालिए, हमें तो लूट लिया सिरमोर वालों ने, डब्बा टीना दा बजाना, सांवरिया बीन बजा, पल्लो लटके गोरी का पल्लो लटके, इना बडिया जो तुड़का लाना ठेकेदारनीया, यार नहीं मिलना दिलदार नहीं मिलना देखकर बेहतरीन प्रस्तुति दी। इसके अलावा राखी गौतम और राज ग्रुप ने भी अपनी प्रस्तुतियां दी। जिसे दर्शकों ने खूब सराहा।

पंजाबी कलाकार राजगुरु में माए नी मेरिए शिमला री राहे कितनी दूर, तारे गिन गिन मैं तो जागा रातों नू, दिल लेना दिल देना सौदा खरा खरा से अपनी बेहतरीन प्रस्तुति दी। इसके अतिरिक्त दो जुड़वा बहनों श्रेया व रिया ने कई गानों पर नृत्य कर श्रोताओं का का मन मोह लिया। सांसद लोकसभा एवं अध्यक्ष भाजपा सुरेश कश्यप तीसरी सांस्कृतिक संध्या के मुख्य अतिथि रहे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सराहां का वामन द्वादशी मेला स्वरूप दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है।

उन्होंने इस मेले के सफल आयोजन के लिए आयोजन समिति को बधाई देते हुए कहा कि पच्छाद क्षेत्र का यह मेला अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस मेले की सांस्कृतिक संध्या को देखने और सुनने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों से हमें अपनी संस्कृति और विरासत से जुड़े रहने का अवसर मिलता है।

इस अवसर पर पच्छाद की विधायक रीना कश्यप, हिमाचल प्रदेश कृषि विपणन बोर्ड के अध्यक्ष बलदेव भंडारी, एसडीएम सराहां डॉ संजीव धीमान व अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे। सांस्कृतिक संध्या से पहले सांसद ने दंगल में महिला व पुरुष विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। कुश्ती प्रतियोगिता के विजेता को 51 हजार रुपये दिए गए और उपविजेता को 31 हजार रुपये की नकद पुरस्कार दिया गया। महिला कुश्ती बराबरी पर छूटी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here