समाचार दृष्टि ब्यूरो/सराहां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हिमाचल दौरा पूरी तरह निराशाजनक रहा उनके इस दौरे से प्रदेश की जनता को बहुत ऊमीद थी यह बात कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष गंगुराम मुसाफिर ने प्रेस को दिए अपने बयान में कही। उन्होंने कहा कि प्रधानमन्त्री ने न मॅहगाई को कम करने की बात की न ही बेरोजगारी को दूर करने की बात की ओर न ही प्रदेश के लिए किसी विशेष पैकेज का ऐलान किया। इससे उनकी कथनी और करनी में अंतर साफ नजर आता है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने 2016 में कहा था कि 2022 तक वह देश मे 80 करोड़ लोगों को रोजगार देंगे जबकि हकीकत यह है कि 40 करोड़ लोगो का रोजगार छीन गया है ओर 45 करोड़ लोगों ने रोजगार की उम्मीद ही छोड़ दी है। नई नोकरियों के सृजन ओर रोजगार के बारे में उन्होंने कोई बात नही की अपने 40 मिनट के भाषण में उन्होंने जिन योजनाओं की बाते की वह सभी यूपीए सरकार के समय से चली हुई है उनके सिर्फ नाम बदले गए और नया नामकरण करके अपना नाम जोड़ा गया।

उन्होंने कहा कि इस समय प्रदेश में डबल इंजन की सरकार होने के बावजूद भी प्रदेश के छोटे बड़े उद्योगों व्यवसायियो किसानों बागवानों को कोई राहत प्रदान नही की गई। जबकि प्रदेश की जनता इस मॅहगाई के समय मे किसी विशेष पैकेज की उम्मीद लगाकर बैठी थी। इसकी बजाय सरकारी तंत्र का उपयोग करके प्रदेश पर ओर कर्ज बड़ा दिया।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने सम्बोधन में प्रदेश के सासंद ओर केंद्रीय मंत्री जिसे कभी वह हिमाचली छोकरा बोलते थे। उनका न नाम लिया और न ही किसी योजना के लिये जिक्र किया गया जिससे प्रदेश में भाजपा की अंतर्कलह भी जाहिर हुई है। इससे यह लगता है कि प्रदेश भाजपा में बाहरी दिखावा ज्यादा अंदरूनी खोखलापन नजर आता है।

मुसाफिर ने कहा कि भाजपा नेताओं ने देश और प्रदेश में सरकार बनने से पहले व आजतक जनता से सिर्फ झूठ बोला है। जिसका हिसाब उन्हें आने वाले समय मे जनता को देना पड़ेगा ओर आगामी विधानसभा चुनावों में प्रदेश में पूर्ण बहुमत के साथ कांग्रेस सरकार सत्ता में आयेगी।

https://samachardrishti.com/wp-content/uploads/2022/04/Azadi-ka-Amrit-Mahotsav_Strip_300dpi-scaled.jpg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here