प्रतिभा सिंह को चापलूसों से बचकर रहना होगा, वरना होगा नुकसान

सत्यदेव शर्मा सहोड़/शिमला

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा प्रतिभा सिंह को हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष के रूप में जिम्मेवारी दी है। उनके साथ 4 कार्यकारी अध्यक्ष भी लगाए गए हैं। जाने माने अंक गणितज्ञ व वशिष्ठ ज्योतिष सदन के अध्यक्ष पंडित शशिपाल डोगरा ने प्रतिभा सिंह के अध्यक्ष बनाए जाने के बाद अंक गणित के हिसाब से गणना करके आने वाले समय के लिए घोषणा की है।

उनके अनुसार पीसीसी चीफ की यह घोषणा 26 अप्रैल 2022 को हुई, अंक 1 सूर्य का है और अंक 4 राहु का है। जो ग्रहण योग बनाता है। कहीं न कहीं विरोध के स्वर आपस में ही उठ सकते हैं। 2 + 6 = 8 अंक जो शनि का अंक है, शनि न्याय का कारक है। शनिदेव झूठ नहीं मानते। वाणी पर संयम व नियंत्रण रखना होगा। शनि जेल का कारक भी है।

पंडित डोगरा ने बताया कि कांग्रेस के नए अध्यक्ष की राह आसान नहीं होगी। प्रतिभा सिंह का जन्म 16 जून, 1956 को हुआ है। 1 + 6 = 7 अंक जो केतु का अंक है। केतु बिना सिर का ग्रह है। जिसकी अपनी कोई दिशा नहीं होती। जिस तरफ चला दो चल पड़ता है। इस वक्त प्रतिभा सिंह 66 वर्ष में चल रही हैं। 6 + 6 = 12 = 1 + 2 = 3 अंक जो गुरु का अंक है। गुरु का शुक्र से विरोध है। अगेले माह जून में 67वें वर्ष में प्रवेश करेंगी । 6 + 7 = 13 = 1 + 3 = 4 अंक जो राहु का अंक है। जन्मदिन के बाद किसी बड़े षड्यंत्र की शिकार हो सकती हैं।

पंडित डोगरा ने कहा कि प्रतिभा सिंह को चापलूस लोगों से बच के रहना होगा। जोकि उनकी छवि को ख़राब करेंगे। पंडित डोगरा ने कहा कि कांग्रेस ने सुखविन्द्र सिंह सुक्खू को चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। उनका भी 8 अंक ही बनता है, जोकि शनि का अंक है, द्विजन्मा योग बना रहा है, जो संघर्ष देगा।

पंडित डोगरा ने कहा कि पार्टी ने मुकेश अग्निहोत्री को दोबारा नेता प्रतिपक्ष बनाकर उन पर विश्वास जताया गया है। मुकेश अग्निहोत्री का जन्मांक 9 अंक का है। अंक 9 मंगल का है जो पूर्ण अंक है। मंगल एक अग्नि तत्व ग्रह है जो जहां भी बैठता और देखता है, वहां अपनी दृष्टि व वाणी से आग बरसाता है। विरोधियों को चित करता है। शनि का तोड़ भी मंगल के पास ही है। मंगल के देवता हनुमान जी है। शनि व राहु को हनुमान जी का भय हमेशा रहता है। प्रतिभा सिंह का 67वें वर्ष में राहु का प्रकोप भी मंगल ही शांत कर सकता है।

पंडित शशिपाल डोगरा ने कहा कि तीन लोग बड़े विशेष है। 3 अंक गुरु का है। समाज का गुरु ब्राह्मण ही होता है। अगर ब्राह्मण की नीति व बुद्धि के हिसाब से चलेंगे तो कांग्रेस को सत्ता में आने से कोई नहीं रोक सकता। बाकि सर्वज्ञ तो ईश्वर है।

https://samachardrishti.com/wp-content/uploads/2022/04/Azadi-ka-Amrit-Mahotsav_Strip_300dpi-scaled.jpg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here