उपायुक्त सिरमौर बोले हुनर है तो मिलेगा रोजगार का अवसर
कहा कि हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम की स्थापना का उद्देश्य प्रदेश के युवाओं को स्वरोजगार व रोजगार से जोड़ने का एक प्रयास

समाचार दृष्टि ब्यूरो/नाहन

जिला सिरमौर के मुख्यालय नाहन के एसएफडीए हॉल में आज हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम की ओर से एक दिवसीय स्किल ओरियंटेशन वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उपायुक्त सिरमौर राम कुमार गौतम उपस्थित रहे।

इस अवसर पर उपायुक्त ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम की स्थापना का उद्देश्य प्रदेश के युवाओं को स्वरोजगार व रोजगार से जोड़ने का एक प्रयास है। उन्होंने बताया कि कौशल विकास निगम राज्य के युवाओं को प्रशिक्षण देखकर उन्हें आजीविका कमाने योग्य बनाने के लिए प्रयासरत हैं।

उपायुक्त सिरमौर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम वर्तमान में 3 माह के एडवांस कोर्स जिनमें साइबर सिक्योरिटी, एडवांस कोर्स ऑन डाटा साइंस एंड एनालिटिक्स, इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन एंड रोबोटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस यूजिंग पाइथन, वेब डिजाइनिंग एंड डेवलपमेंट का प्रशिक्षण और 6 माह के मास्टर सर्टिफिकेट, कोर्स इन कैड सर्टिफिकेट, कोर्स इन सीएनसी मिलिंग, एडवांस डिप्लोमा इन मशीन मेंटेनेंस इन ऑटोमेशन व क्लॉथिंग मैन्युफैक्चरर टेक्नोलॉजी के कोर्स करवाए जा रहे है।

उपायुक्त सिरमौर ने कहा कि आज के परिवेश में जिन बच्चों में किसी भी एक क्षेत्र का हुनर है तो उसे रोजगार का अवसर अवश्य मिलेगा। उन्होंने कहा कि विकसित और विकासशील देशों में किए गए एक सर्वे के अनुसार पिछड़े देशों के युवाओं में नया विचार व नयी सोच की कमी पाई गई है। उन्होंने जिला के युवाओं से अपील की है की वह भविष्य को देखते हुए नए विचार और नया कुछ करने का जुनून अपने अंदर पाले।

उपायुक्त ने जिला के युवाओं से अपील करते हुए कहा है कि जो भी युवा किसी कारणवश अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए हो तो वह हिमाचल कौशल विकास निगम द्वारा उपलब्ध कराए जा रहे निशुल्क कोर्स का अवश्य लाभ उठाएं। उन्होंने इस अवसर पर बताया कि जल्द ही इस तरह के वर्कशॉप उपमंडल स्तर पर भी करवाए जाएंगे ताकि जिला के युवाओं को इन कोर्सों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी मिले।

इस अवसर पर महाप्रबंधक उद्योग ज्ञानचंद चौहान ने उपस्थित युवाओं से किसी भी एक क्षेत्र में स्किल विकसित करने का आवाहन किया। उन्होंने युवाओं को सोलर टेक्नीशियन, ड्रोन ऑपरेटर का कोर्स करने के सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के अंतर्गत युवाओं को 1 करोड़ रुपए तक का लोन उपलब्ध करवाती है और उसमें 25 से लेकर 35 प्रतिशत तक का सब्सिडी भी देती है।

इस अवसर पर बतौर वक्ता जिला रोजगार अधिकारी अक्षय शर्मा ने युवाओं को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, बिग डाटा व ड्रॉन ऑपरेटिंग के क्षेत्र में कोर्स करने के सुझाव दिए। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में इस क्षेत्र में युवाओं को रोजगार के काफी अवसर उपलब्ध होंगे। इस कार्यशाला में सप्त कलामंच सोलन के कलाकारो ने गीत व नुकड नाटक पेश कर हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम द्वारा उपल्बध करवाई जा रही विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी।

इस कार्यशाला में कौशल विकास निगम की जिला समन्वयक मोनिका ठाकुर ने उपायुक्त सिरमौर का स्वागत करते हुए निगम की ओर से चलाए जा रहे विभिन्न निशुल्क कोर्सो के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि निगम द्वारा लघु अवधि के प्रशिक्षण जिसमें 3 से 5 माह तक का कोर्स करवाया जाता है। इसके अतिरिक्त बैचलर ऑफ वोकेशनल, रेकग्निेशन ऑफ प्रायर लर्निंग के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस कार्यशाला में 200 से अधिक युवाओं ने भाग लिया।

इस मौके पर हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम में कार्यरत कुमार गौरव, मोनिका ठाकुर, सुनील बरयाल, रणदीप सिंह नीरज शर्मा उपस्थित रहे।

https://samachardrishti.com/wp-content/uploads/2022/04/Azadi-ka-Amrit-Mahotsav_Strip_300dpi-scaled.jpg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here