कुछ दिन पहले ही भवाई बीट के थयानबाग जंगल में निरीक्षण के दौरान वन परिक्षेत्राधिकारी संगड़ाह को कटे मिले थे देवदार के 20 नग
डीएफओ रेणुकाजी ने सर्च ऑपरेशन टीम का गठन कर जंगल का चप्पा-चप्पा खंगालने के दिए थे निर्देश

समाचार दृष्टि ब्यूरो/नाहन

वन मंडल श्री रेणुका जी के भवाई बीट के थयानबाग जंगल में कुछ दिन पहले निरीक्षण के दौरान वन परिक्षेत्राधिकारी संगड़ाह को देवदार के 20 नग
कटे मिले थे। जिसके बाद विभाग ने हरकत में आते हुए अवैध काटन को लेकर सर्च ओपरेशन चलाया।

इसमें सर्च ऑपरेशन टीम को उस समय सफलता हाथ लगी जब वह जंगल का चप्पा-चप्पा खंगाल रहे थे। भवाई बीट के थयानबाग जंगल में वन विभाग की टीम को देवदार के 135 नगों के साथ 114 पेड़ों के ठूंठ मिले हैं। हालाँकि अभी उन लोगों को नही पकड़ा गया है जिन्होंने वन संपदा को नुकसान पंहुचाया है। विभाग की सर्च ऑपरेशन टीम दो दिन से जंगल में तलाशी अभियान चलाए हुए थी।

टीम को इस दौरान कटे हुए लकड़ी के नग और पेड़ के ठूंड बरामद हुए। विभाग ने लकड़ी को कब्जे में लिया और अवैध कटान पर विभागीय कार्रवाई शुरू करने के साथ ही संगड़ाह थाने में इसका मामला दर्ज करवाया है। विभाग के अनुसार कटे हुए वृक्षों का घनत्व 5,70,624 घन मीटर आंका गया है,और इसकी कीमत लाखों में बताई जा रही है।

गौर हो कि कुछ दिन पहले ही भवाई बीट के थयानबाग जंगल में निरीक्षण के दौरान देवदार के 20 नग कटे मिले थे। जिस पर कड़ा संज्ञान लेते हुए डीएफओ रेणुकाजी ने सर्च ऑपरेशन टीम का गठन किया। उन्होंने टीम को जंगल का चप्पा-चप्पा खंगालने के निर्देश दिए थे।

दो दिन तक चले इस तलाशी अभियान के दौरान टीम ने देवदार के कटे वृक्षों के ठूंड के साथ साथ नग भी बरामद किए। इतनी अधिक मात्रा में पेड़ों के अवैध कटान को लेकर वन विभाग ने संगड़ाह थाने में अवैध कटान और लकड़ी चोरी का मामला दर्ज करवाया है।

डीएफओ रेणुकाजी उर्वशी ठाकुर ने बताया कि टीम ने दो दिन तक थयानबाग के जंगल को खंगाला जिसमे अवैध लकड़ी और ठूंड बरामद हुए हैं ।

उधर डीएसपी संगडाह शक्ति सिंह ने कहा कि वन विभाग की शिकायत पर वन संपदा की चोरी और अवैध कटान का मामला आया है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने अपने स्तर पर जांच शुरू कर दी है। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही वन काटू पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

https://samachardrishti.com/wp-content/uploads/2022/04/Azadi-ka-Amrit-Mahotsav_Strip_300dpi-scaled.jpg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here